सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

अक्तूबर, 2022 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

हिन्दी वर्णमाला (Hindi Notes part - 02)

हिन्दी वर्णमाला (देवनागरी लिपि) हिंदी शब्द फारसी ईरानी भाषा का शब्द है। भाषा - भाष् (संस्कृत) की धातु से उत्पन्न होकर बनी है, जिसका का अर्थ है. 'प्रकट करना' । हिंदी सहित सभी भाषाओं की जननी संस्कृत को माना जाता है. भाषा का विकास  1. वैदिक संस्कृत (1500 ई.पू. से 1000 ई. पू.) 2. लौकिक संस्कृत (1000 ई.पू. से 500 ई. पू.) 3. पाली (500 ई.पू. से 1 ई.पू. - बौद्ध ग्रंथ ) 4. प्राकृत (1 ई.पू. से 500 ई. - जैन ग्रंथ) 5. अपभ्रंश (शोरसैनी) (500 ई से 1000 ई.) 6. हिंदी (1000 ई. से वर्तमान समय में) *1100 ई. को हिंदी भाषा का मानक समय माना जाता है वर्णमाला वर्ण क्या है?  उच्चारित ध्वनियों को जब लिखकर बताना होता है तब उनके लिए कुछ लिखित चिन्ह बनाएं जाते हैं ध्वनियों को व्यक्त करने वाले ये लिपि - चिन्ह ही वर्ण कहलाते हैं। हिन्दी में इन वर्णों को 'अक्षर' कहा जाता है। वर्णमाला वर्णों की व्यवस्थित समूह को वर्णमाला कहते हैं। हिंदी की वर्णमाला में पहले 'स्वर वर्णों तथा बाद में व्यंजन वर्णों' की व्यवस्था है। हिंदी लिपि के चिन्ह अ आ इ ई उ ऊ ऋ  ए ऐ ओ औ अं अः क ख ग घ ङ  च छ ज झ ञ ट ठ ड ढ ण त थ

यमुनौत्री धाम : उत्तराखंड के चारों धामों का पहला पड़ाव

यमुनौत्री धाम (उत्तरकाशी) यमुनोत्री धाम उत्तरकाशी जिले में यमुना नदी के तट पर स्थित है। यह हिंदुओं का एक प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है। यमुनोत्री को उत्तराखंड के चार धामों में केदारनाथ, बद्रीनाथ की यात्रा का यह प्रथम चरण माना जाता है। गंगोत्री, केदारनाथ एवं बद्रीनाथ की यात्रा का प्रारंभ सर्वप्रथम यमुनोत्री के दर्शन करके ही किया जाता है। यमुनोत्री को पावन नदी यमुना का उद्गम स्थल माना जाता है। वास्तविक रूप से यमुना का उद्गम स्थल यमुनोत्री से 6 किलोमीटर दूर कालिंद पर्वत बन्दरपूंछ पर्वत श्रेणी पर स्थित सप्तऋषि कुंड है। जिस कुंड में चंपासर हिंमनद से पिघला एकत्रित होता रहता है। इस कुंड का जल गहरा नीला है। मान्यता है कि लंका विजय के बाद हनुमान जी ने श्रीमुख पर्वत (चौखम्भा) की इस श्रृंखला पर तप किया था। जिस कारण इस पर्वत का नाम बंदरपूंछ पर्वत पड़ा। बंदरपूंछ पर्वत का प्राचीन नाम कालिंदी पर्वत है यह तीन शिखरों का समूह है। श्रीकंठ पर्वत, बंदरपूंछ पर्वत, यमुनोत्री कांठा था यहां राज्य पुष्प ब्रह्मकमल भी पाए जाते हैं। यमुनोत्री यमुना नदी के बाएं किनारे पर लगभग 3230 मीटर ऊंचाई पर स्थित है। मंदिर के निकट

गंगोत्री धाम : उत्तरकाशी

गंगोत्री धाम (उत्तराखंड) उत्तरकाशी जिले में भागीरथी नदी के तट पर मां गंगा का मंदिर है जिसे भागीरथी का मंदिर या गंगोत्री धाम कहते हैं। इस मंदिर में गंगा, लक्ष्मी, पार्वती, मां अन्नपूर्णा देवी की मूर्तियां है। गंगोत्री धाम उत्तराखंड के चार धामों में से एक प्रसिद्ध तीर्थस्थल है। यह स्थल हिन्दुओ का एक पावन तीर्थ है। यह उत्तरकाशी जनपद में 3140 मी. ऊंचाई में स्थित है। पौराणिक कथाओं के अनुसार इसी स्थान पर बैठकर राजा भगीरथ ने तपस्या की तथा गंगा को स्वर्ग से पृथ्वी पर लाये। गंगोत्री मंदिर के निकट जिस स्थान पर भगीरथ ने तपस्या की थी उसे आज भगीरथ शिला के नाम से जाना जाता है। इसके निकट ही भागीरथी की सहायक नदी  केदारगंगा  मिलती है। इस तीर्थ में श्वेत संगमरमर का मंदिर स्थित है।  गंगोत्री धाम का इतिहास और निर्माण भागीरथी के दांये स्थित गंगा मां के इस मन्दिर का निर्माण 19वीं सदी के प्रारंभिक वर्षों (1807-1813 के मध्य) में गोरखा सेनापति अमर सिंह थापा द्वारा सन् में करवाया था। गंगोत्री मंदिर का निर्माण 'कत्यूरी शिखर छत्र पैगोडा शैली ' में हुआ है। इस मंदिर के निर्माण में सफेद ग्रेनाइट का प्रय

Ukpsc online test series (mock test -43)

Ukpsc online test series  उत्तराखंड पुलिस मॉडल पेपर -43 उत्तराखंड पुलिस की सभी परीक्षाओं के लिए विशेष फ्री मॉक टेस्ट सीरीज प्रारंभ की गई है। आगामी परीक्षाओं को अच्छे नंबरों से पास करने के लिए उत्तराखंड की सभी मॉक टेस्ट जरूर दें । यहां सभी मॉक टेस्ट उत्तराखंड समूह-ग के पुराने सभी प्रश्न पत्रों का गहन विश्लेषण करने के बाद तैयार किए गए हैं।  विशेष ध्यान दें - देवभूमि उत्तराखंड द्वारा बिना किसी फीस के उत्तराखंड पुलिस के लिए विशेष मॉक टेस्ट सीरीज चलाई जा रही है। सभी मॉक टेस्ट देने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से अवश्य जुड़े। प्रतिदिन टेस्ट -70 marks (सिलेबस के अनुसार) कृपया शेयर जरुर करें। Join telegram channel - click here Ukpcs test series (mock test - 43) Total - 100 Marks (cutt off 70) (1) 'हड़प्पा' के एक बंदरगाह का नाम लिखिए? (a) लोथल (b) सिकंदरिया (c) महास्थानगढ़ (d) नागपट्टनम Answer - (a) (2) 'जैन धर्म' का सबसे महत्वपूर्ण 'मौलिक सिद्धांत' है? (a) कर्म (b) निष्ठा (c) वैराग्य (d) अहिंसा Answer - (d) (3) दिल्ली सल्तनत के निम्नलिखित राजवंशों में से किसने सबसे कम अ

भारत के चार धामों में से एक बद्रीनाथ धाम (उत्तराखंड)

बद्रीनाथ धाम (चमोली) देवभूमि उत्तराखंड के चमोली जनपद में यूं तो सप्त बद्री स्थित हैं जो विष्णु के धाम के रूप में जाने जाते हैं। किंतु सर्वाधिक मान्यता पंच बद्री समूह (आदि बद्री, बद्रीनाथ, योग बद्री, भविष्य बद्री, वृद्ध बद्री) की है। पंचबद्री समूह में से सबसे विख्यात तीर्थ स्थान है - बद्रीनाथ मंदिर  बद्रीनाथ मंदिर  बद्रीनाथ धाम चमोली जनपद में 3133 मीटर (10279 फीट) की ऊंचाई पर अलकनंदा नदी के दाएं तट पर स्थित है। बद्रीनाथ को 'विशाल बद्री' भी कहा जाता है जो भारत के चार धामों में से एक है। इसे चारों धामों में अंतिम धाम कहा जाता है। बद्रीनाथ में भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। मंदिर के गर्भ गृह में भगवान की 1 मीटर लंबी मूर्ति शालिग्राम की बनी है राहुल सांकृत्यायन के अनुसार यह मूर्ति भगवान बुद्ध की है जबकि जैन अनुयायी इसे भगवान ऋषभदेव या महावीर की मूर्ति मानते हैं मंदिर में स्थित मूर्तियों को 'बद्री पंचायतन' कहा जाता है इसके निकट ही अलकनंदा घाट का नया नाम 'अटलघाट' रखा गया है। बद्रीनाथ धाम की आरती श्री धन सिंह बर्तवाल द्वारा 1881 में लिखी गई थी। बद्रीनाथ धाम का इतिहा

Uk online test series (mock test -41)

Ukpsc test series  Uk online mock test series 2022 (Mock Test -41) विशेष मॉक टेस्ट सीरीज - उत्तराखंड पुलिस उत्तराखंड पुलिस की सभी परीक्षाओं के लिए विशेष फ्री मॉक टेस्ट सीरीज प्रारंभ की गई है। आगामी परीक्षाओं को अच्छे नंबरों से पास करने के लिए उत्तराखंड की सभी मॉक टेस्ट जरूर दें । यहां सभी मॉक टेस्ट उत्तराखंड समूह-ग के पुराने सभी प्रश्न पत्रों का गहन विश्लेषण करने के बाद तैयार किए गए हैं।  विशेष ध्यान दें - देवभूमि उत्तराखंड द्वारा बिना किसी फीस के उत्तराखंड पुलिस के लिए विशेष मॉक टेस्ट सीरीज चलाई जा रही है। सभी मॉक टेस्ट देने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से अवश्य जुड़े। प्रतिदिन टेस्ट -65 marks (सिलेबस के अनुसार) Join telegram channel - click here Join WhatsApp group - click here Ukpcs test series (mock test-41) Total - 100 Marks (cutt off 65) (1) 'वन्दे मातरम्' योजना किसके लिए है- (a) वरिष्ठ नागरिक के लिए (b) गर्भवती महिलाओं के लिए (c) बाल श्रमिकों के लिए (d) विकलांगों के लिए Answer - (b) (2) "WTO" का पूर्ववर्ती नाम है- (a) UNCTAD (b) UNIDO (c) GATT (d) OECD Answer -

उत्तराखंड का तीसरा धाम : केदारनाथ धाम (रूद्रप्रयाग)

उत्तराखंड का तीसरा धाम - केदारनाथ धाम (रूद्रप्रयाग) केदारनाथ धाम रुदप्रयाग जनपद में अलकनंदा एवं मंदाकिनी नदियों के मध्य स्थित है। यह धाम भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। केदारनाथ धाम समुद्र तल से लगभग 3584 मीटर ऊंचाई पर खर्चाखंड और भरतखण्ड नामक दो पर्वतों के बीच उच्च हिमालय की गोद में विराजमान है। केदारनाथ धाम के वाम भाग में केदारनाथ पर्वत है। संस्कृत में 'केदार' शब्द का अर्थ "सेम या दलदली भूमि" है या दूसरे शब्दों में कहें तो "धान की रोपाई वाला खेत"।  इतिहासकार राहुल सांकृत्यायन के अनुसार केदारनाथ मंदिर का निर्माण 12- 13 वीं शताब्दी में हुआ। केदारनाथ मंदिर का इतिहास               पौराणिक कथाओं के अनुसार प्राचीन काल में नर नारायण नामक दो ऋषि थे। उन्होंने इस स्थल पर भगवान शिव की घोर तपस्या की थी तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान शिव ने उन्हें दर्शन दिए तथा इस स्थल पर ज्योतिर्लिंग के रूप में निवास करने का वचन दिया। मान्यता है कि द्वापर युग में महाभारत के युद्ध के बाद पांडव द्रोपदी के साथ हिमालय दर्शन के लिए गए थे तब उन्होंने केदारनाथ में भगवान शिव

उत्तराखंड करेंट अफेयर्स -2022 (सितंबर माह)

Uttrakhand current affairs -2022 उत्तराखंड करंट अफेयर्स 2022 (सितंबर) Most important current affairs देवभूमि उत्तराखंड द्वारा प्रत्येक महीने उत्तराखंड की परीक्षाओं की दृष्टि से 20 अति महत्वपूर्ण प्रश्न तैयार किए जाते हैं। जिनकी शत-प्रतिशत परीक्षाओं में पूछे जाने की संभावना होती है। अतः सभी प्रश्नों को ध्यानपूर्वक पढ़ें।  Uttrakhand current affairs 2022 (September Month) (1) द्रौपदी का डंडा चोटी (डीकेडी) किस जनपद में स्थित है (a) चमोली (b) पौंड़ी (c) उत्तरकाशी (d) रुद्रप्रयाग व्याख्या :- द्रौपदी का डंडा (डीकेडी) पर्वत चोटी उत्तराखंड राज्य के उत्तरकाशी जनपद में है। हाल ही में 4 अक्टूबर को नेहरू पर्वतारोहण संस्थान का 42 सदस्य दल डीकेडी आरोहण के दौरान हिमस्खलन की चपेट में आ गया। जिसमें 29 पर्वतारोही हिमस्खलन में बर्फ से दब गए। उत्तराखंड की प्रसिद्ध पर्वतारोही सविता कंसवाल का इसी दुर्घटना में निधन हो गया।   Answer - (c) (2) उत्तराखंड में राज्य स्तरीय पर्यावरण समाघात निर्धारण प्राधिकरण के अध्यक्ष किन्हें बनाया गया है? (a) डॉ चंद्र भूषण प्रसाद (b) अमूल्य रतन सिन्हा (c) शैलेंद्र सिंह बिष्ट (d)