सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

सितंबर, 2023 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

हिन्दी वर्णमाला (Hindi Notes part - 02)

हिन्दी वर्णमाला (देवनागरी लिपि) हिंदी शब्द फारसी ईरानी भाषा का शब्द है। भाषा - भाष् (संस्कृत) की धातु से उत्पन्न होकर बनी है, जिसका का अर्थ है. 'प्रकट करना' । हिंदी सहित सभी भाषाओं की जननी संस्कृत को माना जाता है. भाषा का विकास  1. वैदिक संस्कृत (1500 ई.पू. से 1000 ई. पू.) 2. लौकिक संस्कृत (1000 ई.पू. से 500 ई. पू.) 3. पाली (500 ई.पू. से 1 ई.पू. - बौद्ध ग्रंथ ) 4. प्राकृत (1 ई.पू. से 500 ई. - जैन ग्रंथ) 5. अपभ्रंश (शोरसैनी) (500 ई से 1000 ई.) 6. हिंदी (1000 ई. से वर्तमान समय में) *1100 ई. को हिंदी भाषा का मानक समय माना जाता है वर्णमाला वर्ण क्या है?  उच्चारित ध्वनियों को जब लिखकर बताना होता है तब उनके लिए कुछ लिखित चिन्ह बनाएं जाते हैं ध्वनियों को व्यक्त करने वाले ये लिपि - चिन्ह ही वर्ण कहलाते हैं। हिन्दी में इन वर्णों को 'अक्षर' कहा जाता है। वर्णमाला वर्णों की व्यवस्थित समूह को वर्णमाला कहते हैं। हिंदी की वर्णमाला में पहले 'स्वर वर्णों तथा बाद में व्यंजन वर्णों' की व्यवस्था है। हिंदी लिपि के चिन्ह अ आ इ ई उ ऊ ऋ  ए ऐ ओ औ अं अः क ख ग घ ङ  च छ ज झ ञ ट ठ ड ढ ण त थ

चंद्रयान मिशन -3 से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न (Chandryan Misson -3)

चंद्रयान मिशन -3 से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न  (Chandrayan Misson -3) चंद्रयान मिशन-3 वर्ष का सर्वाधिक महत्वपूर्ण करेंट अफेयर्स टॉपिक है। यहां से इस वर्ष प्रत्येक परीक्षा में शत प्रतिशत प्रश्न आने की संभावना है। देवभूमि उत्तराखंड द्वारा इस टॉपिक को तैयार करने हेतु महत्त्वपूर्ण प्रश्नों का सेट तैयार किया गया है। जो सभी पैटर्न पर आधारित है। अतः सभी प्रश्नों को ध्यानपूर्वक पढ़ें। चंद्रयान मिशन -3 इसरो द्वारा भारत का चंद्रयान -3 मिशन 14 जुलाई 2023 को दोपहर 2:35 पर सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र श्रीहरिकोटा से लॉन्च हुआ। यह रॉकेट LVM3-M4 से लांच किया गया। तथा इसमें लगे प्रमुख रॉकेट इंजन का नाम ICE क्रायोजेनिक था। जिसमें लगभग 27000 किलोग्राम से भी अधिक की ईंधन की क्षमता थी। और चंद्रयान-3 का कुल वजन 3900 किलोग्राम था। पृथ्वी से चंद्रमा की दूरी 384400 किलोमीटर है। पहली बार चांद पर कदम रखने का खिताब अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग को प्राप्त है जिन्होंने 20 जुलाई 1969 को चांद पर पहला कदम रखा था। चंद्रयान मिशन -3 की कुल लागत 615 करोड रुपए थी। इसके साथ विक्रम नाम का लैंडर तथा प्रज्ञान नाम का र

उत्तराखंड में घटित प्राकृतिक आपदाएं

उत्तराखंड में घटित आपदाएं  एक राज्य के रूप में उत्तराखंड की अत्यंत समृद्ध प्राकृतिक संसाधन प्राप्त हैं। उत्तराखंड की सामान्य स्थलाकृति के कारण यहां भौतिक विशेषताएं तथा सक्रिय प्राकृतिक संसाधन प्राप्त है। यद्यपि सामान्य स्थालाकृति ने क्षेत्र को प्राकृतिक आपदाओं के लिए संवेदनशील बना दिया है। ऐसी परिस्थितियों में जीवन-यापन तथा विकास के लिए आपदा नियंत्रण तंत्र, योजनाओं व क्षमताओं का विकास अति आवश्यक है।  आपदा किसे कहते हैं?  "ऐसी घटना जिसमें सामाजिक पर्यावरण का ह्रास हो, और लोगों की प्रतिरोध करने की क्षमता से अधिक हो तथा बाहरी सहायता की मांग करती हो, वह आपदा कहलाती है। उत्तराखंड आपदा मंत्रालय का गठन - 2006             उत्तराखंड राज्य अपनी भौगोलिक व पारिस्थितिकीय संरचनाओं के कारण प्राकृतिक व मानवीय परिवर्तनों के प्रति संवेदनशील है अतः कोई ऐसी प्रतिक्रिया जो यहां की दशाओं के प्रतिकूल होती है आपदाओं को जन्म देती है, यह आपदाएं प्राय एक दूसरे से संबद्ध होती है। उत्तराखंड में 1867 ईस्वी में आपदा प्रबंधन के लिए हल सेफ्टी कमेटी बनी थी। उत्तराखंड आपदा मंत्रालय गठन करने वाला देश का पहला राज्य ह

Uttrakhand current affairs 2023 (August)

उत्तराखंड करेंट अफेयर्स 2023 (अगस्त) देवभूमि उत्तराखंड पोर्टल पर आप सभी का स्वागत है। देवभूमि उत्तराखंड लंबे समय से आपको फ्री मॉक टेस्ट सीरीज और उत्तराखंड का इतिहास एवं अन्य सामान्य ज्ञान से संबंधित सभी नोट उपलब्ध करवाता है जो आपके आगामी परीक्षाओं के लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण साबित हो सकते हैं।  देवभूमि उत्तराखंड की साइट पर जून 2022 से अगस्त 2023 तक के करेंट अफेयर्स pdf file में उपलब्ध है। करेंट अफेयर्स pdf file में प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए नंबर पर संपर्क करें।  Join WhatsApp group - click here Uttrakhand current affairs in Hindi  (1) इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट (नोएडा) में आयोजित जैविक कृषि वैश्विक स्तरीय अवार्ड कार्यक्रम में हिमालयी और पूर्वोत्तर राज्यों की श्रेणी में उत्तराखंड को कौन सा स्थान दिया गया। (a) पहला  (b) दूसरा (c) तीसरा  (d) चौथा  व्याख्या - ग्रेटर नोएडा में इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट में जैविक कृषि वैश्विक स्तरीय अवार्ड कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें सभी राज्यों ने भाग लिया । हिमालय और पूर्वोत्तर राज्यों की श्रेणी में उत्तराखंड को चौथी बार जैविक कृषि में पहल

उत्तराखंड सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी -104 (Ukpcs MCQ Quiz)(

उत्तराखंड सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी -104 Ukpsc special MCQ Quiz  जैसा कि आप सभी को ज्ञात है। उत्तराखंड उत्तराखंड की परीक्षाओं में बाल लाइनर प्रश्न पूछना कम कर दिया गया है। वर्तमान समय में अधिकांश प्रश्न तार्किक एवं विचारशील है। ऐसा माना जाता है कि उत्तराखंड के अधिकारियों ने लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित परीक्षाओं का अनुसरण कर रही है इसलिए उसी के आधार पर देवभूमि उत्तराखंड नए पैटर्न के अनुसार उत्तराखंड प्रश्नोत्तरी 2023-24 शुरू की है। इस प्रश्नोत्तरी के द्वारा आप आगामी उत्तराखंड लोक सेवा आयोग एवं उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की सभी परीक्षाओं के लिए लाभ उठा सकते हैं। उत्तराखंड लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सभी परीक्षाओं की बेहतरीन तैयारी हेतु देवभूमि उत्तराखंड की साइट पर आप सभी के लिए उत्तराखंड स्पेशल MCQ और टेस्ट सीरीज प्रारंभ की गई है। इसमें आपको कथन और कारण सहित नये पैटर्न पर आधारित प्रश्न पूछे जाएंगे।  उत्तराखंड टेस्ट सीरीज -104 (1) सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और सूचियां के नीचे दिए गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिए।              सूची-I (गुफा)                   सूची-II (जनपद)

उत्तराखंड सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी -103 (Ukpcs special Quiz))

उत्तराखंड सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी -103 Ukpsc Special MCQ उत्तराखंड लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सभी परीक्षाओं की बेहतरीन तैयारी हेतु देवभूमि उत्तराखंड की साइट पर आप सभी के लिए उत्तराखंड स्पेशल MCQ और टेस्ट सीरीज प्रारंभ की गई है। इसमें आपको कथन और कारण सहित नये पैटर्न पर आधारित प्रश्न पूछे जाएंगे।  (1) सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और सूचियां के नीचे दिए गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिए।              सूची-I (संस्थान)             सूची-II (जनपद) A. उत्तराखंड पलायन आयोग         1. देहरादून  B. उत्तराखंड बोली भाषा संस्थान    2. चमोली        C. राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी       3. टिहरी         D. राज्य पुलिस प्रशिक्षण अकादमी  4. पौड़ी गढ़वाल           कूट :         A    B    C    D  (a)   1    2     3    4 (b)   2    1     4    3 (c)   3    1     2    4 (d)  4    2     1    3 (2) निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए 1. रुद्रप्रयाग जनपद का गठन 16 सितंबर 1995 को किया गया था। 2. क्षेत्रफल की दृष्टि से रुद्रप्रयाग का 12वां स्थान है। उपर्युक्त कथनों में से कौन सा/ कौन से सही है? (a) केवल 1

उत्तराखंड सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी -102 (Ukpcs special MCQ)

उत्तराखंड सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी -102 Ukpsc Special MCQ उत्तराखंड लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सभी परीक्षाओं की बेहतरीन तैयारी हेतु देवभूमि उत्तराखंड की साइट पर आप सभी के लिए उत्तराखंड स्पेशल MCQ और टेस्ट सीरीज प्रारंभ की गई है। इसमें आपको कथन और कारण सहित नये पैटर्न पर आधारित प्रश्न पूछे जाएंगे।  (1) सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और सूचियां के नीचे दिए गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिए।              सूची-I                  सूची-II  A. शौल्किक                  1. वनरक्षक B. विषयपति                  2. अभिलेख अधिकारी C. उपचरिक                   3. जिले का प्रमुख D. खण्डपति                  4. मुख्य कर अधिकारी कूट :         A    B    C    D  (a)   1     2    3    4 (b)   2     1    4    3 (c)   3     1    2    4 (d)  4     2     3    1 (2) निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए 1. अल्मोड़ा में सिक्कों की खोज दिसंबर 1975 में हुई 2. अलकनंदा घाटी में पाषाण युगीन उपकरणों की खोज 1980 में गढ़वाल विश्वविद्यालय द्वारा की गई उपर्युक्त कथनों में से कौन सा/ कौन से सही है? (a) केवल 1 (b) केवल 2 

Ukpsc special MCQ (उत्तराखंड प्रश्नोत्तरी -101)

Ukpsc special MCQ  उत्तराखंड लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सभी परीक्षाओं की बेहतरीन तैयारी हेतु देवभूमि उत्तराखंड की साइट पर आप सभी के लिए उत्तराखंड स्पेशल MCQ और टेस्ट सीरीज प्रारंभ की गई है। इसमें आपको कथन और कारण सहित नये पैटर्न पर आधारित प्रश्न पूछे जाएंगे।  उत्तराखंड प्रश्नोत्तरी -101 (1) निम्नलिखित में कौन सही सुमेलित नहीं है?             वंश                     संस्थापक (a). परमार वंश                अजयपाल  (b). कार्तिकेयपुर वंश         बसन्तदेव          (c). चंद वंश                     सोमचंद           (c). पौरव वंश                  विष्णुवर्मन (2) सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और सूचियां के नीचे दिए गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिए।        सूची-I                         सूची-II  A. केदारकांठा बुग्याल          रुद्रप्रयाग     B. बगजी बुग्याल                चमोली  C. चोपता बुग्याल               उत्तरकाशी  D. कफनी बुग्याल                बागेश्वर      कूट :          A      B      C      D  (a)    1       2      3      4 (b)    2       1      4      3 (c)    3       2      1