सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

एसडीजी रिपोर्ट 2023-24 (उत्तराखंड को मिला पहला स्थान)

सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) रिपोर्ट 2023-24 रिपोर्ट जारी करने की तिथि - 12 जुलाई 2024 रिपोर्ट जारी कर्त्ता - नीति आयोग  वैश्विक जारी कर्त्ता - संयुक्त राष्ट्र  भारत में उत्तराखंड को सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) रिपोर्ट 2023-24 में पहला स्थान प्राप्त हुआ है।  12 जुलाई 2024 को नीति आयोग द्वारा सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) रिपोर्ट 2023-24 जारी की गई है। यह रिपोर्ट भारत के 35 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रदर्शन का मूल्यांकन करती है। उत्तराखंड और केरल राज्य ने 79 अंकों के साथ शीर्ष स्थान हासिल किया, जबकि दूसरे स्थान पर तमिलनाडु (78 अंक) और तीसरे स्थान पर गोवा (77 अंक) रहा। प्रथम स्थान - उत्तराखंड व केरल दूसरा स्थान - तमिलनाडु  तीसरा स्थान - गोवा  उत्तराखंड ने शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वच्छता, ऊर्जा, और बुनियादी ढांचे जैसे कई लक्ष्यों में उल्लेखनीय प्रगति की है। सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) क्या है? एसडीजी का आशय सतत विकास लक्ष्य (Sustainable Development Goals) से है। यह 17 वैश्विक लक्ष्य हैं जिन्हें 2030 तक प्राप्त करने का लक्ष्य रखा गया है। इन लक्ष्यों को संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 2015 में अप

उत्तराखंड करेंट अफेयर्स 2024

उत्तराखंड करेंट अफेयर्स 2024

देवभूमि उत्तराखंड द्वारा जून 2023 से जून 2024 तक के करेंट अफेयर्स तैयार किए गए हैं। जिसमें उत्तराखंड बजट 2024-25, उत्तराखंड आर्थिक सर्वेक्षण 2023-24, उत्तराखंड की प्रमुख योजनाऐं, पुरस्कार, खेल आदि बहुविकल्पीय प्रश्नों के साथ व्याख्या के साथ तैयार किए गए हैं। जो उत्तराखंड के लोक सेवा आयोग और उत्तराखंड अधीनस्थ चयन आयोग द्वारा आयोजित सभी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण साबित होंगे।

(1) जनवरी 2024 में उत्तराखंड में किसका नाम बदलकर सीतावनी कंजर्वेशन रिजर्व रखा गया है ?
(a) गौरा देवी कंजर्वेशन रिजर्व 
(b) पावलगढ़ संरक्षण आरक्षित 
(c) नैनादेवी हिमालयी बर्ड कंजर्वेशन रिजर्व 
(d) सोना वन्यजीव संरक्षण आरक्षित 

व्याख्या :- अयोध्या मंदिर में राम लला की मूर्ति की प्रतिष्ठा से पहले पावलगढ़ कंजर्वेशन रिजर्व का नाम बदलकर सीतावनी कंजर्वेशन रिजर्व रखा गया । रिजर्व के अंदर माता सीता को समर्पित एक प्राचीन मंदिर तथा महर्षि वाल्मिकी आश्रम है, मान्यता है कि अयोध्या छोड़ने के बाद वह अपने बेटों लव और कुश के साथ यहीं रुकी थीं।

पावलगढ़ कंज़र्वेशन रिज़र्व उत्तराखंड के नैनीताल जिले में स्थित है। इसे दिसंबर 2012 में एक कंजर्वेशन रिजर्व के रूप में घोषित किया गया था। इसका कुल क्षेत्रफल 58.25 वर्ग किमी. है जो रामनगर के सुंदर, विशाल और समृद्ध जंगलों में स्थित है। यहां स्तनधारियों की 33 से अधिक प्रजातियों, पक्षियों की 365 प्रजातियों और वनस्पतियों को 400 से अधिक प्रजातियों का निवास करती है।

Answer :- (b)

(2) लाल किले में आयोजित भारत पर्व में उत्तराखण्ड की झांकी की थीम क्या थी ?
(a) विकसित उत्तराखण्ड
(b) सशक्त उत्तराखण्ड
(c) आत्मनिर्भर उत्तराखण्ड
(d) स्वच्छ उत्तराखंड 

व्याख्या :- 23-31 जनवरी तक लाल किले में गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत पर्व आयोजित किया गया । जिसमें उत्तराखण्ड की झांकी की थीम - विकसित उत्तराखण्ड थी, 
झांकी के अग्रभाग मे पारम्परिक वेशभूषा में उत्तराखंडी महिला को स्वागत करते हुए दिखाया गया है, साथ ही पारंपरिक अनाज, मंडुवा, झंगोरा, रामदाना व चौलाई की खेती व राज्य पक्षी मोनाल को प्रदर्शित किया गया है। 
झांकी के मध्य भाग में होमस्टे व आखिरी भाग में ऑल वेदर रोड कनैक्टिविटी को दिखाया गया है। 

बता दें कि इससे पूर्व 2023 में उत्तराखण्ड की झांकी मानसखंड को कर्तव्य पथ पर पहला स्थान मिला था।

Answer - (a)

(3) "एक जिला एक उत्पाद" में निम्नलिखित में से उत्तराखण्ड का कौन सा जिला देश भर से कृषि श्रेणी में दूसरे स्थान पर है?
(a) देहरादून 
(b) अल्मोड़ा 
(c) उत्तरकाशी 
(d) नैनीताल 

व्याख्या  :- एक जिला एक उत्पाद में उत्तराखण्ड का उत्तरकाशी जनपद देश भर से कृषि श्रेणी में दूसरे स्थान पर है। उत्तरकाशी जिले में उत्पादित लाल चावल को केन्द्र सरकार ODOP योजना हेतु चुना गया है।

Answer :- (c)

(4) जनवरी 2024 में उत्तराखंड की पर्वतारोही सविता कंसवाल (मरणोपरांत) को किस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है ?
(a) पद्म विभूषण 
(b) पद्म श्री 
(c) सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार 
(d) इनमें से कोई नहीं 

व्याख्या :- जनवरी 2024 में उत्तराखंड की पर्वतारोही सविता कंसवाल को मरणोपरांत तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है । 

सविता कंसवाल का जन्म 1997 में भटवाड़ी तहसील के लोथरु गांव उत्तरकाशी में हुआ था। सविता कंसवाल उत्तराखंड की प्रसिद्ध पर्वतारोही थी । इन्होंने 12 मई 2022 को एवरेस्ट फतेह किया था। इसके अलावा मकालू पर्वत, ल्होत्से, मांट त्रिशूल आदि शिखरों पर फतेह हासिल की। 

4 अक्टूबर 2022 में द्रौपदी का डांडा पर्वत चोटी (5670 मीटर) अभियान के दौरान प्राकृतिक आपदा के कारण उनकी मृत्यु हो गई ।
 
Answer :- (d)

(5) बॉबी सिंह धामी का संबंध किस खेल से है ?
(a) क्रिकेट 
(b) मुक्केबाजी 
(c) हॉकी 
(d) एथलेटिक्स 

व्याख्या :- बॉबी सिंह धामी का संबंध हॉकी खेल से है। हाल ही में बॉबी सिंह धामी का चयन भारतीय हॉकी टीम में हुआ है। वह पिथौरागढ़ जनपद के मूल निवासी हैं। 18 मार्च 2024 को  ऑस्ट्रेलिया टूर के 27 सदस्य भारतीय पुरुष हॉकी टीम में उत्तराखंड के बॉबी सिंह धामी भी शामिल थे।

Answer :- (c)

(6) उत्तराखंड राज्य का पहला बालिका स्पोर्ट्स कॉलेज का उद्घाटन कहां किया गया है ?
(a) डीडीहाट (पिथौरागढ़)
(b) लोहाघाट (चंपावत)
(c) रानीखेत (अल्मोड़ा)
(d) हल्द्वानी (नैनीताल)

व्याख्या :- हाल ही में उत्तराखंड राज्य का पहला बालिका स्पोर्ट्स कॉलेज का उद्घाटन लोहाघाट (चंपावत) में किया गया है। बालिका स्पोर्ट्स कॉलेज बनाने की घोषणा 2012 में रुद्रपुर में की गई थी लेकिन जमीन न मिलने के कारण यह स्टेडियम लोहाघाट में बनाया गया। 

Answer- (b)

(7)  हर घर जल योजना के तहत पेयजल कनेक्शन लगाने में उत्तराखंड का कौन सा जिला प्रथम स्थान पर है ?
(a) पौड़ी 
(b) ऊधम सिंह नगर 
(c) देहरादून 
(d) चम्पावत 

व्याख्या :- जल जीवन मिशन के अंतर्गत अगस्त 2019 में हर घर जल योजना प्रारंभ की गई थी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य है कि 2024 तक देश के हर घर तक नल द्वारा जल पहुंचाना। इस योजना के तहत पेयजल कनेक्शन लगाने में उत्तराखंड का पौड़ी जिला प्रथम स्थान पर है । 

बता दें कि हर घर जल पहुंचाने वाला पहला राज्य गोवा है जिसे जलशक्ति मंत्रालय ने अगस्त 2022 में हर घर तक जल पहुंचाने में प्रमाणित किया है ।

Answer :- (a)

(8) स्वच्छ सर्वेक्षण सम्मान 2023 में उत्तराखण्ड के किस शहर को पहला पुरुस्कार प्राप्त हुआ है।
(a) रुड़‌की
(b) हल्द्वानी
(c) देहराइन
(d) पिथौरागढ

व्याख्या :- स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 का आयोजन भारत मंडपम दिल्ली में किया गया था। इस सर्वेक्षण में इंदौर शहर को लगातार सातवीं बार सबसे स्वच्छ शहर का पुरुस्कार मिला है साथ ही सूरत को भी इस वर्ष सबसे स्वच्छ शहर का पुरुस्कार मिला है.
उत्तराखण्ड में देहराइन शहर को सबसे स्वच्छ शहर का पुरुस्कार मिला है जबकि राष्ट्रीय स्तर पर 68वां स्थान मिला है,

राज्य के सबसे स्वच्छ शहर
  • देहराइन (रैंक 68)
  • हरिद्वार (रैंक 176)
  • रुड़की (रैंक 180)
  • हल्द्वानी (रैंक 211)
Answer - (c)

(9) भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना PM-FME (सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करत इकाइयों को अपग्रेड करने) के मामले में उत्तराखंड कौन-से स्थान पर है 
(a) दूसरे 
(b) पांचवें 
(c) आठवें 
(d) सोलहवें 

व्याख्या :- भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना PM-FME (सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करत इकाइयों को अपग्रेड करने) के मामले में उत्तराखंड आठवें स्थान पर है । PM-FME योजना के तहत उत्तराखंड राज्य ने 141 इकाइयों को अपग्रेड किया है। 

पीएम सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण औपचारिकीकरण योजना की शुरूआत खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय (MOFPI) द्वारा 29 जून 2020 को की गई है। यह एक केन्द्रीय प्रायोजित योजना है। 

पीएम एफएमई योजना का मुख्य उद्देश्य सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण उद्यमों को उन्नत करने के लिए वित्तीय, तकनीकी और व्यावसायिक सहायता प्रदान करना है। यह योजना आत्मनिर्भर भारत अभियान का हिस्सा है। इस योजना में प्रथम स्थान तमिलनाडु को मिला है जिसे 1219 इकाइयों को अपग्रेड किया है।

Answer :- (c)

(10) 15 अप्रैल 2024 से किन दो शहरों के मध्य मानसखंड रेल सेवा की शुरुआत की गई।
(a) कोलकाता से काठगोदाम 
(b) दिल्ली से टनकपुर 
(c) दिल्ली से काठगोदाम 
(d) कोलकाता से टनकपुर 

व्याख्या :- उत्तराखंड पर्यटन विभाग ने अप्रैल 2024 में मानसखंड गलियारा यात्रा भारतीय रेल के साथ मिलकर शुरू की । इसके साथ ही मानसखंड मंदिर माला मिशन के तहत् बाहरी राज्यों के पर्यटकों को उत्तराखंड पर्यटन से जोड़ने हेतु 15 अप्रैल 2024 से कोलकाता से टनकपुर दो शहरों के मध्य मानसखंड रेल सेवा की शुरुआत की है ।

Answer :- (d)

(11) हाल ही में गोला नदी के समीप खुदाई के दौरान किस वंश के सिक्के प्राप्त हुए ?
(a) कुणिंद वंश 
(b) मुगल वंश 
(c) कत्यूरी वंश
(d) गुप्त वंश 

व्याख्या :- हाल ही में उत्तराखंड की गोला नदी के समीप खुदाई के दौरान चार मुगल कालीन सिक्के प्राप्त हुए हैं। इन सिक्कों के ऊपर अरबी व फारसी भाषा का प्रयोग हुआ है। और इन्हें हिमालयन‌ शोध संग्रहालय में रखा गया है।‌

Answer :- (b)

(12) 26 जनवरी 2024 में गणतंत्र दिवस के अवसर पर ननकूड़ी ग्राम (उत्तराखंड) की ममता बोहरा को राष्ट्रपति के साथ रात्रि भोज का न्योता मिला। ननकूड़ी गांव किस जनपद में स्थित है ?
(a) चमोली 
(b) पिथौरागढ़ 
(c) पौड़ी गढ़वाल 
(d) अल्मोड़ा 

व्याख्या :- 26 जनवरी 2024 में गणतंत्र दिवस के अवसर पर ननकूड़ी ग्राम (उत्तराखंड) की ममता बोहरा को राष्ट्रपति के साथ रात्रि भोज का न्योता मिला। ननकूड़ी ग्राम पिथौरागढ़ जनपद के डीडीहाट विकासखंड में स्थित है । ममता बोहरा ननकूड़ी ग्राम की 21 वर्षीय ग्राम प्रधान बनने वाली महिला हैं जिन्होंने गांव के विकास के लिए वैज्ञानिक खेती सड़क विकास खेती और दुग्ध उत्पादन को बाजार उपलब्ध कराने के अलावा महिला संरक्षण हेतु कार्य शालाओं का आयोजन किया। 

Answer :- (b)

(13) जनवरी 2024 में उत्तराखंड के किस स्थान पर हाल ही में प्रागैतिहासिक कालीन रॉक पेंटिंग (चित्रकारी) के प्रमाण मिले हैं ?
(a) बेरीनाग (पिथौरागढ़)
(b) लोहाघाट (चम्पावत)
(c) जोशीमठ (चमोली)
(d) रानीखेत (अल्मोड़ा)

व्याख्या :- पिथौरागढ़ जनपद के बेरीनाग में पुरातत्व एवं साहसिक पर्यटन के क्षेत्र में कार्य कर रहे क्षेत्र के युवा तरुण मेहरा ने बेरीनाग महाविद्यालय के पास ही स्थित एक पहाड़ी पर प्रागैतिहासिक कालीन शैल चित्र खोजे हैं। इस गुफा में लखुउडियार गुफा (अल्मोड़ा) के प्रागैतिहासिक कालीन रॉक पेंटिंग की तरह ही गुफा की दीवारों पर विशेष रंग से चित्रकारी की गई थी।
आपको बता दें अल्मोड़ा जिले में स्थित लखुउडियार गुफा की खोज वर्ष 1968 में डॉ एम. पी. जोशी ने की थी। 

Answer :- (a)

(14) उत्तराखंड के प्रसिद्ध साहित्यकार डॉ यशवंत सिंह कठोच को किस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है 
(a) सरस्वती सम्मान 
(b) व्यास सम्मान 
(c) पद्म भूषण 
(d) पद्म श्री 

व्याख्या :- उत्तराखंड के प्रसिद्ध साहित्यकार डॉ यशवंत सिंह कठोच को किस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है । जनवरी 2024 में पद्म पुरस्कारों की लिस्ट जारी की गई जिसमें 5 हस्तियों को भारत रत्न, 5 हस्तियों को पद्म विभूषण, 17 व्यक्तियों को पद्म भूषण 17 और 110 व्यक्तियों को पद्म श्री पुरस्कार प्रदान किए गए। इस लिस्ट में इस वर्ष कुल विजेता 132 थे जिसमें कुल 30 महिलाएं शामिल है।

यशवंत सिंह कठौच की प्रमुख रचनाएं 
  • मध्य हिमालय का पुरातत्व-1981
  • उत्तराखंड की सैन्य परंपरा-1994
  • संस्कृति के पद चिन्ह-1996
  • मध्य हिमालय ग्रन्थमाला
  • प्राचीन तथा मध्यकालीन भारतीय नगरकोष
  • मध्य हिमालय खण्ड 2 तथा खण्ड 3
  • उत्तराखंड का नवीन इतिहास 
  • गढ़वाल के प्रमुख अभिलेख 
Answer :- (d) 

(15) सतत् विकास लक्ष्य हासिल करने के मामले में उत्तराखंड का पहला जिला कौन सा है?
(a) नैनीताल 
(b) देहरादून 
(c) चम्पावत 
(d) ऊधम सिंह नगर 

व्याख्या :-  सेंटर फॉर पब्लिक पॉलिसी एंड गुड गवर्नेस (CPPGG) की रिपोर्ट के अनुसार 2019-20 से 2022-23 तक राज्य के 13 जिलों में भुखमरी, गरीबी व बिमारियों से लड़ने की योजनाओं की प्रगति की है। इसकी रिपोर्ट के अनुसार SDG रैंकिंग में उत्तराखंड 69वें स्थान पर है। सबसे अच्छे जिले में नैनीताल (77वां स्थान) व अल्मोड़ा (68 वां स्थान) पर है।

Answer :- (a)

(16) भारत सरकार के अंतरिम बजट में उत्तराखंड हेतु कितना रेल बजट का प्रावधान है-
(a) 15,120 करोड
(b) 11,450 करोड़ 
(c) 16,340 करोड़ 
(d) 22,230 करोड़ 

व्याख्या :-  उत्तराखंड में ऋषिकेश कर्णप्रयाग रेल लाइन पर तेजी से काम चल रहा है। और टनकपुर बागेश्वर रेल लाइन और गंगोत्री-यमुनोत्री धाम तक पहुंचने के लिए डोईवाला से गंगोत्री तक रेल लाइ बिछाने का काम भी प्रस्तावित है। साथ ही रुड़की देवबंद लाइन और अन्य रेलमार्गों पर भी काम कराया जाना है। इसके अलावा उत्तराखंड को मौजूदी वित्तवर्ष में कुछ नई वंदे भारत ट्रेनों और स्पेशल ट्रेनों का भी तोहफा मिल सकता है। इसलिए पिछले वित्तीय वर्ष 2022-23 से की तुलना में यह धनराशि 116 करोड़ अधिक 15,120 करोड़ है। 

Answer :- (a)

(17) एशियन डेवलेपमेंट बैंक (ADB) द्वारा उत्तराखण्ड के विभिन्न शहरों में सीवरेज और पेयजल लाइन हेतु कितनी धनराशि का प्रावधान किया गया है।
(a) 1,426 करोड़ 
(b) 2,686 करोड़ 
(c) 2,945 करोड़ 
(d) 3,221 करोड़ 

व्याख्या :- एशियन डेवलेपमेंट बैंक (ADB) द्वारा उत्तराखण्ड के विभिन्न शहरों चंपावत, कोटद्वार, किच्छा, विकासनगर में सीवरेज और पेयजल लाइन हेतु 2686 करोड़ रुपए धनराशि का प्रावधान किया गया है। एशियन विकास बैंक की स्थापना 19 दिसंबर 1966 को हुई थी। इसका मुख्यालय मंडलुयोंग (फिलीपींस) में है।

Answer :- (b)

(18) 30 जनवरी 2024 को उत्तराखण्ड के किन शहरों के मध्य हवाई सेवा शुरु की गई है।
(a) देहराइन - पिथौरागढ - पन्तनगर
(b) देहरादून - चमोली - टनकपुर 
(c) पन्तनगर - रुढ़की - नरेंद्रनगर 
(d) पंतनगर - पिथौरागढ़ - चमोली 

व्याख्या :- 30 जनवरी 2024 को उत्तराखण्ड के देहराइन - पिथौरागढ - पन्तनगर शहरों के मध्य हवाई सेवा शुरु की गई है।

Answer :- (a)

(19) 12 नवम्बर 2023 को सिलक्यारा सुरंग हादसा की जांच हेतु गठित 6 सदस्यीय कमेटी के अध्यक्ष कौन हैं ?
(a) डॉ. सन्तोष कुमार 
(b) डॉ. शान्तनु कुमार
(c) डॉ. भास्कर पाण्डेय 
(d) डॉ. हरक राम कोहली 

व्याख्या :- 12 नवम्बर 2023 को उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले के यमुनोत्री हाइवे (NH-134) पर निर्माणाधीन सिलक्यारा टनल हादसे की जांच को गठित 6 सदस्य विशेषज्ञ कमेटी गठित की गई थी। इस कमेटी के अध्यक्ष भू-स्खलन न्यूनीकरण एवं प्रबंधन संस्थान के निदेशक डॉ. शान्तनु कुमार को बनाया गया था। 

20 फरवरी 2024 को जाँच समिति द्वारा रिपोर्ट दी गई । इस रिपोर्ट में भारी खामियां पाई गई हैं। जांच रिपोर्ट में कहा गया कि जहां भूस्खलन हुआ वो सुरंग की संवेदनशील चट्टान है जहां पर उसके ऊपर-नीचे निर्माण करना बहुत ही खतरनाक होता है। और वहां पर जो सुरंग का अलाइनमेंट है वो पूरा का पूरा ही गलत बताया गया है। 

Answer :-  (b)

(20) उत्तराखंड के राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी के स्थान पर कौन नियुक्त किए गये थे।
(a) श्री महेन्द्र भट्ट 
(b) श्री किशोर बड़थ्वाल 
(c) श्री मनोहर लोहिया 
(d) श्री प्रकाश पंत 

व्याख्या :- फरवरी 2024 में उत्तराखंड के राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी के स्थान पर उत्तराखंड बीजेपी के अध्यक्ष महेंद्र भट्ट को नियुक्त किया गया। भट्ट जी जुलाई 2022 में उत्तराखंड बीजेपी की उत्तराखंड के अध्यक्ष बने थे। इससे पूर्व 2017 में बद्रीनाथ विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित हुए थे। साल 2010 से 2012 तक उन्होंने राज्य मंत्री के समकक्ष पद पर कार्य किया। 

Answer :- (a)

(21) मेनका गुंज्याल का संबंध किससे है।
(a) पर्वतारोही
(b) अभिनेती
(c) साहित्यकार
(d) संगीतकार

व्याख्या :- उत्तराखंड की पर्वतारोही मेनका गुंज्याल ने गुलमर्ग (कश्मीर) में आयोजित चौथे खेलो इंडिया में गोल्ड और सिल्वर मेडल जीते है । और उसके बाद हिमाचल सरकार के पर्यटन विभाग द्वारा 29-30 मार्च को आयोजित नेशनल स्कीइंग चैंपियनशिप प्रतियोगिता में मेनका गुंज्याल ने वर्टिकल रेस में स्वर्ण पदक जीता. पिथौरागढ़ की रहने वाली मेनका गुंज्याल ने लगातार 2 महीने में तीन मेडल जीतने वाली पहली स्नो स्कियर बनने का गौरव प्राप्त कर लिया है । 

खेलो इंडिया विंटर गेम्स 2024 में उत्तराखण्ड ने कुल 7 पदक जीते है। इन खेलों का आयोजन लद्दाख (2-6 फरवरी 2024) और गुलमर्ग (21-25 फरवरी 2024) में हुआ था ।

Answer :- (a)

(22) 1 मार्च 2024 को उत्तराखण्ड के पूर्व राज्यपाल डॉ. अजीज कुरैशी का निधन हो गया। यह उत्तराखण्ड के कौन से नम्बर के राज्यपाल बने थे ?
(a) दूसरे 
(b) तीसरे 
(c) चौथे 
(d) पांचवें 

व्याख्या :- डा. अजीज कुरेशी का जन्म 24 अप्रैल 1941 भोपाल मध्य प्रदेश में हुआ था। कुरैशी जी 15 मई 2012 में उत्तराखंड के 5वें मुख्यमंत्री राज्यपाल बने थे और उससे पूर्व उत्तर प्रदेश, मिजोरम के राज्यपाल रह चुके थे। 1 मार्च 2024 को उत्तराखण्ड के पूर्व राज्यपाल डॉ. अजीज कुरैशी का निधन हो गया। 
  • प्रथम - सुरजीत सिंह बरनाला 
  • द्वितीय - सुदर्शन अग्रवाल 
  • तृतीय - बी.एल. जोगी, 
  • चौथे - मार्गरेट अत्ता 
  • पांचवें - डॉ. अजीज कुरेशी
वर्तमान आठवें राज्यपाल लेफ्टिनेंट गुरमीत सिंह है (29 सितंबर 2021 से अब तक)

Answer :- (d)

(23) निम्नलिखित में से किन्हें मार्च 2024 को उत्तराखंड के संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से सम्मानित नहीं किया गया ?
(a) डॉ राकेश भट्ट
(b) डॉ संजय पाण्डेय 
(c) डॉ लता पाण्डेय 
(d) डॉ शशिकला पाण्डेय 

व्याख्या :- मार्च 2024 को उत्तराखंड के सात लोक कलाकारों को अकादमी पुरस्कार प्रदान किया गया। इनमें चार व्यक्तियों को संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार दिया गया। उत्तराखंड के डॉ राकेश भट्ट (रुद्रप्रयाग), डॉ संजय पाण्डेय (बागेश्वर), डॉ लता पांडे (अल्मोड़ा) और जहूर आलम (नैनीताल) को कला के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने हेतु संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। 

इसके अलावा संगीत नाटक अकादमी उस्ताद बिस्मिल्लाह खां पुरुस्कार के लिए संतूर वादक पार्थो राय चौधरी, संस्कृत गढ़वाली रामलीला में योगदान के लिए पुनीत डिमरी व अमित खंडूरी को चुना गया है। 

संस्कृति मंत्रालय के अनुसार पुरस्कार प्राप्त करने वाले कलाकार कला के सभी क्षेत्रों, जैसे- संगीत, नृत्य, नाटक, लोक और आदिवासी कला, कठपुतली आदि में प्रदान किए जाते हैं। इन पुरस्कारों के अंतर्गत ताम्रपत्र और अंगवस्त्र के साथ एक लाख रुपये की नकद राशि दी जाती है

Answer :- (d) 

(24) उत्तराखंड समान नागरिक संहिता (UCC) के बारे में कौन सा कथन सत्य नहीं है 
(a) UCC कमेटी का गठन - 27 मई 2022
(b) UCC ड्राफ्ट कमेटी के अध्यक्ष - न्यायाधीश रंजना प्रकाश देसाई
(c) उत्तराखंड में जनसंवाद शुरू - माणां गांव
(d) उत्तराखंड विधानसभा द्वारा पारित - 2 फरवरी 2024

व्याख्या :- उत्तराखंड समान नागरिक संहिता विधेयक को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू द्वारा 11 मार्च 2024 को मंजूरी प्रदान की गई। उत्तराखंड में UCC जनसंवाद माणा गांव से शुरू किया गया। 

यह अधिनियम राज्य के प्रत्येक स्थायी निवासी, राज्य या केंद्र सरकार के स्थायी कर्मचारी राज्य में संचालित सरकारी योजना के लाभार्थी और राज्य में न्यूनतम 1 साल तक रहने वाले लोगों पर लागू रहेगा। परन्तु उत्तराखंड की अनुसूचित जनजातियां (ST) UCC से बाहर रहेंगी। समान नागरिक संहिता का उल्लेख भारतीय संविधान के अनुच्छेद 44 में किया गया है, जो कि राज्य नीति के निदेशक तत्व का अंग हैं।

महत्वपूर्ण तथ्य :-
  • उत्तराखण्ड में UCC कमेटी का गठन - 27 मई 2022 
  • कमेटी द्वारा रिपोर्ट सौंपी गई - 2 फरवरी 2024 
  • उत्तराखंड विधानसभा में विधेयक पेश - 6 फरवरी 2024
  • उत्तराखंड विधानसभा में विधेयक पारित - 7 फरवरी 2024
  • पांच सदस्यीय UCC ड्राफ्ट कमेटी के अध्यक्ष - न्यायाधीश रंजना प्रकाश देसाई 
Answer :- (d) 

(25) उत्तराखंड के 17वें मुख्य सचिव डॉ सुखबीर सिंह संधू को नियुक्त किया गया है?
(a) भारत निर्वाचन आयोग के सदस्य 
(b) वित्त आयोग के सदस्य 
(c) राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के सदस्य 
(d) संघ लोक सेवा आयोग के सदस्य 

व्याख्या :- उत्तराखंड के 17वें मुख्य सचिव रह चुके डॉ सुखबीर सिंह सिंधु को 14 मार्च 2024 को चुनाव आयोग सदस्य नियुक्त किया गया । इनके साथ ही ज्ञानेश कुमार को भी चुनाव आयुक्त सदस्य नियुक्त किया गया । वर्तमान समय में मुख्य चुनाव आयुक्त श्री राजीव कुमार हैं। 15 मार्च को राजीव कुमार ने दोनों सदस्यों को शपथ ग्रहण कराई। 
            भारत निर्वाचन आयोग को चुनाव आयोग के नाम से जाना जाता है। चुनाव आयोग की स्थापना 25 जनवरी 1950 को हुई थी। यह एक स्वायत्त संवैधानिक निकाय है जिसका उल्लेख संविधान के भाग 15 और अनुच्छेद 324 से 329 तक दिया गया है। 
               प्रारंभ में इस आयोग एक मुख्य चुनाव आयुक्त होता था किन्तु 16 अक्टूबर 1989 को तीन सदस्यीय बना दिया गया। किन्तु कुछ समय बाद पुनः एक सदस्यीय बना दिया। अन्ततः 1 दिसंबर 1993 से इसे पुनः तीन सदस्यीय बना दिया गया। जिसमें एक मुख्य चुनाव आयुक्त और दो सदस्य चनाव आयुक्त होते हैं।

बता दें कि तीन सदस्यीय चुनाव आयोग के एक सदस्य अनूपचंद्र पाण्डे 14 फरवरी, 2024 को सेवानिवृत्त हो गए थे, जबकि एक अन्य सदस्य अरुण गोयल ने व्यक्तिगत कारणों से 8 मार्च को त्यागपत्र दे दिया था, जिससे चुनाव आयोग में चुनाव आयुक्तों के दोनों पद रिक्त हो गए थे.

Answer :- (a)

(26) निम्नलिखित में से 5 मार्च 2024 को उत्तराखंड की किस नगर पंचायत को नगर पालिका का दर्जा दिया गया ?
1. पुरोला (उत्तरकाशी)
2. नानकमत्ता (ऊधम सिंह नगर)
3. कालाढूंगी (नैनीताल)
4. पोखरी (चमोली)

उत्तर दीजिए 
(a) केवल 1
(b) केवल 2 और 3
(c) केवल 1 और 3 
(d) केवल 3 और 4

व्याख्या :- मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पुरोला और कालाढूंगी नगर पंचायत का अपग्रेड कर नगर पालिका बनाने की घोषणा की थी। इससे राज्य में कुल नगरपालिका संख्या 43 हो गई है। इससे पूर्व मुनस्यारी ब्लाक और भीमताल को अगस्त 2023 में नगरपालिका बनाने की घोषणा की गई थी।

Answer :- (c)

(27) निम्नलिखित में से 2 अक्टूबर 1994 को रामपुर तिराहा कांड के किन पुलिस जवानों को आजीवन कारावास की सजा हुई है
(1) मिलाप सिंह
(2) घनश्याम सिंह 
(3) बलवंत सिंह 
(4) विरेन्द्र प्रताप सिंह 

उत्तर दीजिए -
(a) केवल 1 और 2
(b) केवल 2 और 3
(c) केवल 1 और 4 दोनों 
(d) उपर्युक्त सभी 

व्याख्या :- 18 मार्च 2024 को 2 अक्टूबर 1994 को रामपुर तिराहा कांड के दो पुलिस मिलाप सिंह और विरेन्द्र प्रताप सिंह जवानों को आजीवन कारावास की सजा हुई है।

Answer :- (c) 

(28) 29 मार्च 2024 को जारी कृषि विभाग की ताजा रिपोर्ट में 2011-12 से 2022-23 के मध्य खेती की जमीन में कितने प्रतिशत की कमी की गई है 
(a) 12 प्रतिशत 
(b) 17 प्रतिशत 
(c) 21 प्रतिशत 
(d) 25 प्रतिशत 

व्याख्या :- कृषि विभाग के आंकड़ों के अनुसार साल 2011-12 से वर्ष 2022-23 के बीच कृषि भूमि 17 प्रतिशत तक कम हुई है. राज्य में लगभग 35% कृषि भूमि है, जबकि 65% जंगल क्षेत्र पर आधारित है। पहाड़ में खेती के लिए पानी की कमी सहित अन्य बढ़ती चुनौतियों को देखते हुए किसान अपने पारंपरिक पेशे से दूर हो रहे हैं। आंकड़ों के अनुसार, साल 2011-12 में जहां राज्य में 9,09,305 हेक्टेयर कृषि भूमि हुआ करती थी, जो साल 2022-23 में घटकर 753,014 हेक्टेयर रह गई है. 

Answer :- (b)

(29) उत्तराखंड में शुरू किए गए 'मिशन कोशिश' का संबंध किस है ?
(a) शिक्षा से 
(b) खेल से 
(c) कृषि से 
(d) पर्यावरण संरक्षण से 

व्याख्या :- अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण की निदेशक श्रीमती सीमा जौनसारी ने निर्देश जारी किए कि राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में अप्रैल-मई में 'मिशन कोशिश' अभियान चलाया जाएगा। यह अभियान कक्षा 1 से 12वीं तक चलेगा। इसके अलावा विद्यालयों में नामांकन वृद्धि के लिए अप्रैल में प्रवेश भी होगा। किन्तु पाठ्यक्रम में कुछ नया पढ़ने के स्थान पुरानी कक्षा का पुनः रिवीजन होगा और उसके बाद मूल्यांकन होगा। 

Answer :-  (a)

(30) हाल ही में किस स्थान से कत्यूरी कालीन शिव जी के वाहन नंदी की मूर्ति प्राप्त हुई है ?
(a) दाडिमखोला (अल्मोड़ा)
(b) देवाल (चमोली)
(c) कंडीसौड़ (टिहरी)
(d) कोटाबाग (नैनीताल)

व्याख्या :- कुमाऊं विश्वविद्यालय के इतिहास विभाग के हिमालय संग्रहालय को हाल ही में दाडिमखोला (अल्मोड़ा) स्थान से कत्यूरी कालीन शिव जी के वाहन नंदी की मूर्ति प्राप्त हुई है । इसके अलावा द्वाराहाट (अल्मोड़ा) और खारगंगा नदी के तट पर कत्यूरी राजवंश से संबंधित ओखलियां भी प्राप्त हुई है।

Answer :- (a)

(31) छठीं अस्कोट आराकोट यात्रा - 2024 कब शुरू हुई ?
(a) 05 मार्च 
(b) 15 अप्रैल 
(c) 25 मई 
(d) 08 जून

व्याख्या :- छठीं अस्कोट आराकोट यात्रा 25 मई 2024 से 8 जुलाई 2024 तक चलेगी। इस वर्ष अस्कोट आराकोट यात्रा की थीम है - "स्रोत से संगम" । यह अस्कोट-आराकोट यात्रा की 50वीं वर्षगाँठ है। इस यात्रा की शुरुआत 1974 में गढ़वाल विश्वविद्यालय द्वारा एक शोध यात्रा के रूप में थी जिसके बाद पहाड़ संस्था द्वारा 1984 और 1994 में इसका आयोजन किया गया था। यह यात्रा पिथौरागढ़ के अस्कोट से शुरू होकर उत्तरकाशी के आराकोट तक लगभग 1150 किलोमीटर की पैदल पर्यावरणीय यात्रा है। इस यात्रा का आयोजन प्रत्येक 10 वर्ष बाद होता है। 5वीं अस्कोट आराकोट यात्रा 2014 में की गई थी।
शेखर पाठक अब तक की सभी यात्राओं में शामिल होने वाले एकमात्र व्यक्ति है। 23 मई 2024 अस्कोट आराकोट यात्रा के दौरान इतिहासकार शेखर पाठक ने हिमांक और क्वथनांक पुस्तक का विमोचन किया।

Answer :- (c)

(32) उत्तराखंड वन विभाग के नए प्रमुख कौन बनाए गए हैं 
(a) डॉ धनंजय मोहन
(b) डॉ राजेश पाठक 
(c) डॉ पुष्पेश पन्त 
(d) डॉ जगदीश मेहता 

Answer :- (a)

(33) बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन की 7 अप्रैल 2024 को जारी विश्व रैंकिंग में उत्तराखंड के लक्ष्य सेन का स्थान है ?
(a) 5वां 
(b) 7वां 
(c) 11वां 
(d) 15वां 

व्याख्या :- बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन ने 7 अप्रैल 2024 को जारी की। विश्व रैंकिंग में उत्तराखंड के लक्ष्य सेन की 11वीं रैंक है जबकि इनके भाई चिराग सेन की 93वीं रैंक है। लक्ष्य सेन ने पेरिस ओलंपिक 2024 का टिकट हासिल कर लिया है। पेरिस ओलंपिक 2024 का आयोजन 26 जुलाई से 11 अगस्त के पेरिस में किया जाएगा।

Answer :- (c)

(34) केंद्रीय सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वय मंत्रालय द्वारा अप्रैल 2023-24 की रिपोर्ट के अनुसार उत्तराखंड राज्य महंगाई दर को नियंत्रित करने के मामले में कौन से स्थान पर है ?
(a) पहले 
(b) दूसरे 
(c) तीसरे 
(d) चौथे 

व्याख्या :- केंद्रीय सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय द्वारा अप्रैल 2023-24 की रिपोर्ट के अनुसार उत्तराखंड राज्य महंगाई दर को नियंत्रित करने के मामले में तीसरे स्थान पर है। उत्तराखंड की महंगाई दर 3.61 प्रतिशत है। जबकि राष्ट्रीय औसत महंगाई दर 4.83 है । महंगाई दर को नियंत्रित करने में पहला स्थान दिल्ली 2.17 प्रतिशत और दूसरा बंगाल 3.49 प्रतिशत है 
Answer :- (c) 

(35) उत्तराखंड सरकार द्वारा जंगलों की आग पर काबू पाने हेतु 8 मई 2024 को कौन सा अभियान शुरू किया गया है - 
(a) पिरुल लाओ पैसे पाओ
(b) ड्रोन सिंचाई अभियान
(c) उड़ान सिंचाई अभियान 
(d) जंगल बचाओ अभियान 

व्याख्या :- उत्तराखंड सरकार द्वारा रुद्रप्रयाग जनपद से जंगलों की आग पर काबू पाने हेतु 8 मई 2024 को 'पिरुल लाओ पैसे पाओ' अभियान शुरू किया गया है । 

पिरूल लाओ - पैसे पाओ अभियान के तहत स्थानीय युवा और ग्रामीण जंगल में सूखे पिरूल (चीड़ के पेड़ की पत्तियां) एकत्र करेंगे और उन्हें निर्धारित पिरूल संग्रह केंद्र पर ले जाएंगे। उप-विभागीय मजिस्ट्रेट की देखरेख में तहसीलदार अपने-अपने क्षेत्रों में पिरूल संग्रह केंद्र का प्रबंधन करेंगे। संग्रह केंद्र पर पिरूल का वजन करके भंडारण किया जाएगा और ग्रामीणों या युवाओं को प्रति किलोग्राम 50 रुपये का भुगतान किया जाएगा, जो सीधे बैंक खातों में स्थानांतरित किया जाएगा।

Answer :- (a)

(36) मई 2024 में उत्तराखंड की अभिनेत्री तथा पटकथा लेखक उर्मी नेगी को किस अवार्ड से सम्मानित किया गया है
(a) राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार 
(b) दादा साहेब फाल्के पुरस्कार
(c) अकादमी पुरस्कार 
(d) फिल्म फेयर पुरस्कार 

व्याख्या :- उत्तराखंड की अभिनेत्री तथा पटकथा लेखक उर्मी नेगी को प्रसिद्ध रचना सुबैरो घाम -2 के लिए दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। सुबैरो घाम पहाड़ के युवाओं को रोजगार की तलाश में महानगरों की ओर रुख करना व नशे की लत से जीवन बर्बाद करना पर आधारित है।

Answer :- (b)

(37) 21 मई को हिमालय प्रहरी पुरस्कार 2024 से किसे सम्मानित किया गया है ।
(a) स्वर्गीय कुंवर प्रसून 
(b) मंगशीरी देवी 
(c) a और b दोनों 
(d) इनमें से कोई नहीं 

व्याख्या :- 21 में 2021 को पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा का निधन हुआ था उनकी तृतीय पुण्यतिथि में 21 मई 2021 से प्रत्येक वर्ष हिमालय प्रहरी पुरस्कार दिया जाता है । इस वर्ष स्वर्गीय कुंवर प्रसून व मंगशीरी देवी को इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। 

Answer :- (c)

(38) पदक जीतने वाले उत्तराखण्ड के खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी में क्षैतिज आरक्षण प्रदान करने वाले विधेयक को राज्यपाल ने मंजूरी दे दी है जिसके तहत् खिलाडियो को सरकारी नौकरी में कितने प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण मिलेगा ?
(a) 4%
(b) 10%
(c) 14%
(d) 25%

Answer :- (a)

(39) 16 मार्च, 2024 को आस्ट्रेलिया की सबसे ऊंची चोटी मांउट कोस्फीयूजको का सफल आरोहण करने वाले उत्तरकाशी पर्वतारोही कौन हैं ?
(a) गोविन्द कनवाल
(b) मयंक भट्ट 
(c) प्रवीन राणा
(d) तनुज जोशी 

व्याख्या :- 16 मार्च, 2024 को आस्ट्रेलिया की सबसे ऊंची चोटी मांउट कोस्फीयूजको (2228 मीटर) का सफल आरोहण करने वाले उत्तरकाशी पर्वतारोही प्रवीन राणा हैं। इससे पूर्व राणा ने 21 मई 2022 को विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर फतेह हासिल की थी।

Answer :- (c)

(40) निम्नलिखित में से कौन-सा/से कथन ठीक है 
कथन 1 - देश के प्रथम सीडीएस स्वर्गीय जनरल बिपिन रावत अल्मोड़ा जनपद के मूल निवासी थे।
कथन 2 - पौड़ी जिले के तल्ला बनास गांव में जनरल बिपिन रावत की मूर्ति एवं 80 फीट तिरंगा झंडा एवं पार्क स्थापित किया गया है।
कथन 3 - देहरादून के टोंस ब्रिज स्कूल में स्वर्गीय जनरल बिपिन रावत की प्रतिमा का अनावरण हुआ है।

(a) केवल 1
(b) केवल 2 और 3
(c) केवल 1 और 3 
(d) उपर्युक्त सभी 

व्याख्या :- देश के प्रथम सीडीएस स्वर्गीय जनरल बिपिन रावत पौड़ी जनपद के मूल निवासी हैं। हाल ही में पौड़ी जिले के तल्ला बनास गांव में जनरल बिपिन रावत की मूर्ति एवं 80 फीट तिरंगा झंडा एवं पार्क स्थापित किया गया है। और देहरादून के टोंस ब्रिज स्कूल में रावत की प्रतिमा का अनावरण किया गया है।
Answer :- (b)

(41) स्टार्ट -24 प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए किस राज्य में इसरो ने नोडल केंद्र बनाया है
(a) उत्तर प्रदेश 
(b) गुजरात 
(c) हिमाचल प्रदेश 
(d) उत्तराखंड 

व्याख्या :- स्टार्ट -24 प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए उत्तराखंड राज्य के में इसरो ने वीर माधो सिंह भंडारी उत्तराखंड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के महिला प्रौद्योगिकी संस्थान को नोडल केंद्र बनाया है  ।

Answer :- 

(5) वर्ष 2023 के लिए कितने शिक्षकों को शैलेश मटियानी पुरस्कार से सम्मानित किया गया है ?
(a) 5
(b) 7
(c) 12
(d) 17

व्याख्या :- शैलेश मटियानी पुरस्कार की शुरुआत 2009 में की गई थी। उत्तराखंड सरकार हर साल शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले तमाम शिक्षकों को 'शैलेश मटियानी राज्य शैक्षिक पुरस्कार' से सम्मानित करती है. इसी क्रम में साल 2023 में भी उत्तराखंड सरकार ने प्रदेश के 17 शिक्षकों को इस पुरस्कार से सम्मानित किया था. 
  • प्रारंभिक शिक्षा - 11 शिक्षकों
  • माध्यमिक शिक्षा - 5 शिक्षकों 
  • प्रशिक्षण संस्थान - 1 शिक्षक 
इस पुरस्कार से सम्मानित होने वाले शिक्षकों को ना सिर्फ पुरस्कार की धनराशि और प्रशस्ति पत्र दिया जाता है बल्कि, शिक्षक की इच्छा पर ही उन्हें दो साल का सेवा विस्तार भी दिया जाता है.
Answer :- (d)

E-book डाउनलोड करने से पहले मात्र ₹20 रुपए का भुगतान करें। उसके पश्चात् ही pdf file खुलेगी।


Related posts :-



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

परमार वंश - उत्तराखंड का इतिहास (भाग -1)

उत्तराखंड का इतिहास History of Uttarakhand भाग -1 परमार वंश का इतिहास उत्तराखंड में सर्वाधिक विवादित और मतभेद पूर्ण रहा है। जो परमार वंश के इतिहास को कठिन बनाता है परंतु विभिन्न इतिहासकारों की पुस्तकों का गहन विश्लेषण करके तथा पुस्तक उत्तराखंड का राजनैतिक इतिहास (अजय रावत) को मुख्य आधार मानकर परमार वंश के संपूर्ण नोट्स प्रस्तुत लेख में तैयार किए गए हैं। उत्तराखंड के गढ़वाल मंडल में 688 ईसवी से 1947 ईसवी तक शासकों ने शासन किया है (बैकेट के अनुसार)।  गढ़वाल में परमार वंश का शासन सबसे अधिक रहा।   जिसमें लगभग 12 शासकों का अध्ययन विस्तारपूर्वक दो भागों में विभाजित करके करेंगे और अंत में लेख से संबंधित प्रश्नों का भी अध्ययन करेंगे। परमार वंश (गढ़वाल मंडल) (भाग -1) छठी सदी में हर्षवर्धन की मृत्यु के पश्चात संपूर्ण उत्तर भारत में भारी उथल-पुथल हुई । देश में कहीं भी कोई बड़ी महाशक्ति नहीं बची थी । जो सभी प्रांतों पर नियंत्रण स्थापित कर सके। बड़े-बड़े जनपदों के साथ छोटे-छोटे प्रांत भी स्वतंत्रता की घोषणा करने लगे। कन्नौज से सुदूर उत्तर में स्थित उत्तराखंड की पहाड़ियों में भी कुछ ऐसा ही हुआ। उत्

चंद राजवंश : उत्तराखंड का इतिहास

चंद राजवंश का इतिहास पृष्ठभूमि उत्तराखंड में कुणिंद और परमार वंश के बाद सबसे लंबे समय तक शासन करने वाला राजवंश है।  चंद वंश की स्थापना सोमचंद ने 1025 ईसवी के आसपास की थी। वैसे तो तिथियां अभी तक विवादित हैं। लेकिन कत्यूरी वंश के समय आदि गुरु शंकराचार्य  का उत्तराखंड में आगमन हुआ और उसके बाद कन्नौज में महमूद गजनवी के आक्रमण से ज्ञात होता है कि तो लगभग 1025 ईसवी में सोमचंद ने चंपावत में चंद वंश की स्थापना की है। विभिन्न इतिहासकारों ने विभिन्न मत दिए हैं। सवाल यह है कि किसे सच माना जाए ? उत्तराखंड के इतिहास में अजय रावत जी के द्वारा उत्तराखंड की सभी पुस्तकों का विश्लेषण किया गया है। उनके द्वारा दिए गए निष्कर्ष के आधार पर यह कहा जा सकता है । उपयुक्त दिए गए सभी नोट्स प्रतियोगी परीक्षाओं की दृष्टि से सर्वोत्तम उचित है। चंद राजवंश का इतिहास चंद्रवंशी सोमचंद ने उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल में लगभग 900 वर्षों तक शासन किया है । जिसमें 60 से अधिक राजाओं का वर्णन है । अब यदि आप सभी राजाओं का अध्ययन करते हैं तो मुमकिन नहीं है कि सभी को याद कर सकें । और अधिकांश राजा ऐसे हैं । जिनका केवल नाम पता है । उनक

उत्तराखंड में भूमि बंदोबस्त का इतिहास

  भूमि बंदोबस्त व्यवस्था         उत्तराखंड का इतिहास भूमि बंदोबस्त आवश्यकता क्यों ? जब देश में उद्योगों का विकास नहीं हुआ था तो समस्त अर्थव्यवस्था कृषि पर निर्भर थी। उस समय राजा को सर्वाधिक कर की प्राप्ति कृषि से होती थी। अतः भू राजस्व आय प्राप्त करने के लिए भूमि बंदोबस्त व्यवस्था लागू की जाती थी । दरअसल जब भी कोई राजवंश का अंत होता है तब एक नया राजवंश नयी बंदोबस्ती लाता है।  हालांकि ब्रिटिश शासन से पहले सभी शासकों ने मनुस्मृति में उल्लेखित भूमि बंदोबस्त व्यवस्था का प्रयोग किया था । ब्रिटिश काल के प्रारंभिक समय में पहला भूमि बंदोबस्त 1815 में लाया गया। तब से लेकर अब तक कुल 12 भूमि बंदोबस्त उत्तराखंड में हो चुके हैं। हालांकि गोरखाओ द्वारा सन 1812 में भी भूमि बंदोबस्त का कार्य किया गया था। लेकिन गोरखाओं द्वारा लागू बन्दोबस्त को अंग्रेजों ने स्वीकार नहीं किया। ब्रिटिश काल में भूमि को कुमाऊं में थात कहा जाता था। और कृषक को थातवान कहा जाता था। जहां पूरे भारत में स्थायी बंदोबस्त, रैयतवाड़ी बंदोबस्त और महालवाड़ी बंदोबस्त व्यवस्था लागू थी। वही ब्रिटिश अधिकारियों ने कुमाऊं के भू-राजनैतिक महत्

ब्रिटिश कुमाऊं कमिश्नर : उत्तराखंड

ब्रिटिश कुमाऊं कमिश्नर उत्तराखंड 1815 में गोरखों को पराजित करने के पश्चात उत्तराखंड में ईस्ट इंडिया कंपनी के माध्यम से ब्रिटिश शासन प्रारंभ हुआ। उत्तराखंड में अंग्रेजों की विजय के बाद कुमाऊं पर ब्रिटिश सरकार का शासन स्थापित हो गया और गढ़वाल मंडल को दो भागों में विभाजित किया गया। ब्रिटिश गढ़वाल और टिहरी गढ़वाल। अंग्रेजों ने अलकनंदा नदी का पश्चिमी भू-भाग पर परमार वंश के 55वें शासक सुदर्शन शाह को दे दिया। जहां सुदर्शन शाह ने टिहरी को नई राजधानी बनाकर टिहरी वंश की स्थापना की । वहीं दूसरी तरफ अलकनंदा नदी के पूर्वी भू-भाग पर अंग्रेजों का अधिकार हो गया। जिसे अंग्रेजों ने ब्रिटिश गढ़वाल नाम दिया। उत्तराखंड में ब्रिटिश शासन - 1815 ब्रिटिश सरकार कुमाऊं के भू-राजनीतिक महत्व को देखते हुए 1815 में कुमाऊं पर गैर-विनियमित क्षेत्र के रूप में शासन स्थापित किया अर्थात इस क्षेत्र में बंगाल प्रेसिडेंसी के अधिनियम पूर्ण रुप से लागू नहीं किए गए। कुछ को आंशिक रूप से प्रभावी किया गया तथा लेकिन अधिकांश नियम स्थानीय अधिकारियों को अपनी सुविधानुसार प्रभावी करने की अनुमति दी गई। गैर-विनियमित प्रांतों के जिला प्रमु

उत्तराखंड के प्रमुख व्यक्तित्व एवं स्वतंत्रता सेनानी

उत्तराखंड के प्रमुख व्यक्तित्व उत्तराखंड की सभी परीक्षाओं हेतु उत्तराखंड के प्रमुख व्यक्तित्व एवं स्वतंत्रता सेनानियों का वर्णन 2 भागों में विभाजित करके किया गया है । क्योंकि उत्तराखंड की सभी परीक्षाओं में 3 से 5 मार्क्स का उत्तराखंड के स्वतंत्रता सेनानियों का योगदान अवश्य ही पूछा जाता है। अतः लेख को पूरा अवश्य पढ़ें। दोनों भागों का अध्ययन करने के पश्चात् शार्ट नोट्स पीडीएफ एवं प्रश्नोत्तरी पीडीएफ भी जरूर करें। भाग -01 उत्तराखंड के प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी [1] कालू महरा (1831-1906 ई.) कुमाऊं का प्रथम स्वतंत्रता संग्राम (1857) "उत्तराखंड का प्रथम स्वतंत्रा सेनानी" कालू महरा को कहा जाता है। इनका जन्म सन् 1831 में चंपावत के बिसुंग गांव में हुआ था। इनके पिता का नाम रतिभान सिंह था। कालू महरा ने अवध के नबाब वाजिद अली शाह के कहने पर 1857 की क्रांति के समय "क्रांतिवीर नामक गुप्त संगठन" बनाया था। इस संगठन ने लोहाघाट में अंग्रेजी सैनिक बैरकों पर आग लगा दी. जिससे कुमाऊं में अव्यवस्था व अशांति का माहौल बन गया।  प्रथम स्वतंत्रता संग्राम -1857 के समय कुमाऊं का कमिश्नर हेनरी रैम्

उत्तराखंड की जनजातियों से संबंधित प्रश्न (उत्तराखंड प्रश्नोत्तरी -14)

उत्तराखंड प्रश्नोत्तरी -14 उत्तराखंड की प्रमुख जनजातियां वर्ष 1965 में केंद्र सरकार ने जनजातियों की पहचान के लिए लोकर समिति का गठन किया। लोकर समिति की सिफारिश पर 1967 में उत्तराखंड की 5 जनजातियों थारू, जौनसारी, भोटिया, बोक्सा, और राजी को एसटी (ST) का दर्जा मिला । राज्य की मात्र 2 जनजातियों को आदिम जनजाति का दर्जा प्राप्त है । सर्वप्रथम राज्य की राजी जनजाति को आदिम जनजाति का दर्जा मिला। बोक्सा जनजाति को 1981 में आदिम जनजाति का दर्जा प्राप्त हुआ था । राज्य में सर्वाधिक आबादी थारू जनजाति तथा सबसे कम आबादी राज्यों की रहती है। 2011 की जनगणना के अनुसार राज्य की कुल एसटी आबादी 2,91,903 है। जुलाई 2001 से राज्य सेवाओं में अनुसूचित जन जातियों को 4% आरक्षण प्राप्त है। उत्तराखंड की जनजातियों से संबंधित प्रश्न विशेष सूचना :- लेख में दिए गए अधिकांश प्रश्न समूह-ग की पुरानी परीक्षाओं में पूछे गए हैं। और कुछ प्रश्न वर्तमान परीक्षाओं को देखते हुए उत्तराखंड की जनजातियों से संबंधित 25+ प्रश्न तैयार किए गए हैं। जो आगामी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण साबित होंगे। बता दें की उत्तराखंड के 40 प्रश्नों में से 2

Uttrakhand current affairs in Hindi (May 2023)

Uttrakhand current affairs (MAY 2023) देवभूमि उत्तराखंड द्वारा आपको प्रतिमाह के महत्वपूर्ण करेंट अफेयर्स उपलब्ध कराए जाते हैं। जो आगामी परीक्षाओं में शत् प्रतिशत आने की संभावना रखते हैं। विशेषतौर पर किसी भी प्रकार की जॉब करने वाले परीक्षार्थियों के लिए सभी करेंट अफेयर्स महत्वपूर्ण साबित हो सकते हैं। उत्तराखंड करेंट अफेयर्स 2023 की पीडीएफ फाइल प्राप्त करने के लिए संपर्क करें।  उत्तराखंड करेंट अफेयर्स 2023 ( मई ) (1) हाल ही में तुंगनाथ मंदिर को राष्ट्रीय स्मारक घोषित किया गया है। तुंगनाथ मंदिर उत्तराखंड के किस जनपद में स्थित है। (a) चमोली  (b) उत्तरकाशी  (c) रुद्रप्रयाग  (d) पिथौरागढ़  व्याख्या :- तुंगनाथ मंदिर उत्तराखंड के गढ़वाल मंडल के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित है। तुंगनाथ मंदिर समुद्र तल से 3640 मीटर (12800 फीट) की ऊंचाई पर स्थित एशिया का सर्वाधिक ऊंचाई पर स्थित शिवालय हैं। उत्तराखंड के पंच केदारों में से तृतीय केदार तुंगनाथ मंदिर का निर्माण कत्यूरी शासकों ने लगभग 8वीं सदी में करवाया था। हाल ही में इस मंदिर को राष्ट्रीय महत्त्व स्मारक घोषित करने के लिए केंद्र सरकार ने 27 मार्च 2023